हल का प्रबलन सिद्धांत | Hull’s Reinforcement Theory

हल का प्रबलन सिद्धांत( Hull’s Reinforcement Theory) हल का प्रबलन सिद्धांत क्या है? प्रबलन सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया? हल ने प्रबलन सिद्धांत का प्रतिपादन कब किया? आदि प्रश्नों के उत्तर आपको इस पोस्ट में मिलेंगे, इसके साथ में हल के प्रबलन सिद्धांत के अन्य नाम का भी वर्णन इस पोस्ट में किया गया है |

हल का प्रबलन सिद्धांत | Hull’s Reinforcement Theory

सामान्य परिचय क्लार्क एल. हल

नाम:- क्लार्क लियोनार्ड हल
देश:- अमेरिका
जन्म:- 1884  
मृत्यु:- 1952

हल का प्रबलन सिद्धांत के अन्य नाम क्या है

हल के प्रबलन सिद्धांत को अनेक नामो से जाना जाता है, जो निम्नानुसार है |

  • गणितीय सिद्धांत
  • परिकल्पित निगमन सिद्धांत
  • आवश्यक अवकलन सिद्धांत
  • जैविकीय अनुबन्ध का सिद्धांत
  • सबलीकरण का सिद्धांत
  • चालक न्यूनता का सिद्धांत
  • यथार्थ अधिगम का सिद्धांत
  • परिष्कृत सिद्धांत
  • प्रबलन का सिद्धांत

हल ने प्रबलन सिद्धांत का प्रतिपादन कब किया

प्रबलन सिद्धांत का प्रतिपादन अमेरिका के ‘ क्लार्क एल. हल’ (Clark. L. Hull) ने 1915 में किया था। हल ने अपनी पुस्तक ‘ व्यवहार के सिद्धांत ‘ (Principle of Behaviour) में लिखा है कि” सीखना आवश्यकता की पूर्ति की प्रक्रिया द्वारा होता है।”

पुनर्बलन देने के आधार पर कितने प्रकार का होता है ?

पुनर्बलन देने के आधार पर दो प्रकार का होता है, जो निम्नानुसार है
1. सतत पुनर्बलन
2. असतत / आंशिक पुनर्बलन


उदाहरण:- एक बालक को पाँच प्रश्न हल करने के लिए दिये और पाँच प्रश्न पर ही उसे लगातार पुनर्बलन शाबास, तू तो होशियार बच्चा है, इस क्लास का Topper है। ऐसा पुनर्बलन देना सतत् पुनर्बलन कहलाता है। कर्मचारी को महीने के अंत में सैलेरी देना अर्थात् फिक्स टाइम पर पुनर्बलन प्राप्त होना असतत पुनर्बलन के अन्तर्गत आता है।

हल के प्रबलन सिद्धांत के शेक्षिक निहितार्थ

1. यह सिद्धांत आवश्यकताओं पर बल देता है। अतः सीखना तब ही सार्थक हो सकता है, जब यह छात्रों की आवश्यकताओं की पूर्ति करें।
2. छात्रों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर ही विभिन्न कक्षाओं का पाठ्यक्रम बनाया जाता है।
3. पुनर्बलन पर विशेष ध्यान दिया जाता है।
4. बालकों को सीखने की अभिप्रेरणा देता है।
5. यह सिद्धांत उच्च स्तर के लिए अधिक उपयोगी है।

Note:- व्यवहार सिद्धांत में सर्वप्रथम पुनर्बलन का प्रयोग स्कीनर ने किया और पुनर्बलन का सिद्धांत-हल ने दिया |

Read Also

FAQ

1. क्लार्क एल. हल का पूरा नाम क्या है?

उत्तर:- क्लार्क एल. हल का पूरा नाम क्लार्क लियोनार्ड हल है

2. क्लार्क एल. हल ने किस सिद्धांत का प्रतिपादन किया था?

उत्तर:- क्लार्क एल. हल ने प्रबलन के सिद्धांत का प्रतिपादन किया

3. क्लार्क एल. हल के प्रबलन के सिद्धांत के अन्य नाम क्या है?

उत्तर:-
1. गणितीय सिद्धांत
2. परिकल्पित निगमन सिद्धांत
3. आवश्यक अवकलन सिद्धांत
4. जैविकीय अनुबन्ध का सिद्धांत
5. सबलीकरण का सिद्धांत
6. चालक न्यूनता का सिद्धांत
7. यथार्थ अधिगम का सिद्धांत
8. परिष्कृत सिद्धांत
9. प्रबलन का सिद्धांत

4. पुनर्बलन देने के आधार पर कितने प्रकार का होता है ?

उत्तर:- 1. सतत पुनर्बलन
2. असतत / आंशिक पुनर्बलन

5. हल ने प्रबलन के सिद्धांत का प्रतिपादन कब किया?

उत्तर:- हल ने प्रबलन के सिद्धांत का प्रतिपादन १९१५ में किया

6. पुनर्बलन का सिद्धांत किसने दिया?

उत्तर:- पुनर्बलन का सिद्धांत क्लार्क लियोनार्ड हल ने दिया


Leave a Reply

%d bloggers like this: