vakya or uske bhed in hindi

वाक्य रचना ,वाक्य के अंग कितने होते है ?, वाक्य विचार की परिभाषा क्या है? ,vakya or uske bhed in hindi हिंदी grammar का एक महत्वपूर्ण टॉपिक है | यह पोस्ट REET के विद्यार्थियों के लिए बहुत उपयोगी है |

हिंदी व्याकरण का महत्वपूर्ण टॉपिक वाक्य-विचार, वाक्य रचना, वाक्य के अंग |

vakya-or-uske-bhed-in-hindi
vakya or uske bhed in hindi

वाक्य-विचार

परिभाषा:-  
जब दो या दो से अधिक शब्द मिलकर पूर्ण अर्थ का बोध कराए अर्थात शब्दों का शार्थक समूह वाक्य कहलाता है |
जैसे:- किसान खेत जोतता है |
        मोहन पुस्तक पढ़ता है |
वाक्य के अनिवार्य घटक – 2 होते है |
1. कर्ता 
2. क्रिया 
 
वाक्य के अंग – 2 होते है |
1. उद्देश्य 
2. विधेय 
 
उद्देश्य:-
          वाक्य का वह अंग जिसके बारे में कुछ कहा जाता है, अर्थात कर्ता और कर्ता का विस्तारक उद्देश्य कहलाता है |
विधेय:-
वाक्य में उद्देश्य के बारे में / कर्ता और कर्ता के विस्तारक के बारे में जो कुछ भी कहा जाता है| अर्थात कर्म, कर्म का विस्तारक, क्रिया, क्रिया का विस्तारक, पूरक और पूरक का विस्तारक विधेय कहलाता है |
जैसे:- 
कृष्ण              बांसुरी बजाता है |
( उद्देश्य  )         ( विधेय )

उदाहरण :-
  • पिताजी ने कहा की सभी का सम्मान करो |
  • राकेश की माँ ने कहा कि घर के बाहर नही निकलना है|
  • निहारिका सुंदर लड़की है |
  • मर्यादा पुरुषोतम राम ने रावण का वध किया |
  • विमला की बहन कमला बहुत सुंदर गीत गाती है |

वाक्य के प्रकार :- वाक्य 2 प्रकार के होते है |
1. प्रयोग /रचना के आधार पर
2. अर्थ के आधार पर

1. प्रयोग /रचना के आधार पर वाक्य के प्रकार – 3 प्रकार होते है |

1. सरल वाक्य
2. संयुक्त वाक्य
3. मिश्र वाक्य

सरल वाक्य 

परिभाषा:-
जब किसी वाक्य में एक विधेय ,एक उद्देश्य हो , और पूरा वाक्य एक साथ बोल दिया जाए, कोई किसी पर आश्रित न हो, वह सरल वाक्य कहलाता है |
जैसे :-
मोहन        पुस्तक पढ़ता है |
( उद्देश्य )     ( विधेय )
 
  • रजनी पत्र लिखती है |
  • हम मेहरानगढ़ दुर्ग देखने गये |
  • माता -पिता और बच्चे चलचित्र देख रहे है |
  • रेखा व मोहन खेल रहे है |
  • मोहन सुंदर और हंसमुख है |

संयुक्त वाक्य 

परिभाषा :- 
जब किसी वाक्य में दो स्वंत्रत वाक्य हो और किसी संयोजक से जुड़े हो, तथा किसी पर आश्रित ना हो |
 
जैसे :-
  • कृष्ण बांसुरी बजाता है और राधा नाचती है |
  • रात हुई और आकाश में तारों का मेला लग गया |
  • रोगी ने दवा पी और उसे उल्टी हो गई |
  • वह गरीब है परन्तु बेईमान नही |
  • घर जाओ या यही बैठे रहो परन्तु शोर मत करो |
  • पिताजी स्टेशन पहुंचे और गाड़ी छुट गई |
  • मैने राकेश को पढने को कहा लेकिन वह नही पढ़ा |

मिश्र वाक्य:- 

परिभाषा :- जब किसी वाक्य में एक प्रधान उपवाक्य और एक या एक से अधिक आश्रित उपवाक्य हो तो वह मिश्र या मिश्रित वाक्य कहलाता है |
जैसे :-
जो मनुष्य धनवान होते है        उन्हें सभी चाहते है |
( प्रधान उपवाक्य )                       ( आश्रित उपवाक्य )
 
  • वह गाड़ी कहाँ है जो आप कल लाये थे |
  • गांधीजी ने कहा कि सदा सत्य बोलो और हिंसा मत करो |
  • यदि मोदी जी के आदेश की पालना करोगे तो कोरोना से बच जाओगे |
  • मैने वैसे ही किया जैसे तुमने बताया |
  • मेरे जीवन का उद्देश्य है की लोंगो की सेवा करू |
  • सभी विद्यार्थी जानते है की अध्यापक हमेशा उनके हित की बात करते है |
वाक्य रूपांतरण 
सरल वाक्य से संयुक्त वाक्य में रूपांतरण |
  • मोहन पुस्तक पढ़ और लिख रहा है |- सरल वाक्य
  • मोहन पुस्तक पढ़ रहा है और वह लिख रहा है |
सरल वाक्य से मिश्र वाक्य में रूपांतरण |
  • संतोषी मनुष्य हमेशा सुखी रहता है | – सरल वाक्य
  • जो मनुष्य संतोषी होता है , वह सदा सुखी रहता है | – मिश्र वाक्य
  • कांच निचे गिर कर चूर-चूर हो गया | – सरल वाक्य
  • जैसे ही कांच निचे गिरा वैसे ही वह चूर -चूर हो गया |- मिश्र वाक्य
संयुक्त से मिश्र वाक्य में रूपांतरण |
  • आज रविवार है इसलिए बैंक बंद है |- संयुक्त वाक्य
  • बैंक इसलिए बंद है क्योकि आज रविवार है |- मिश्र वाक्य
  • शिक्षक दीपक की तरह होता है और वह खुद जलकर दुसरो को प्रकाशमान करता है |- संयुक्त वाक्य
  • शिक्षक उस दीपक की तरह होता है जो खुद जलकर दूसरों को प्रकाशमान कर्ता है |- मिश्र वाक्य

अर्थ के आधार पर :- वाक्य 8 प्रकार के होते है |

  1. विधानार्थक वाक्य
  2. निषेध वाचक वाक्य
  3. इच्छार्थक/ इच्छावाचक वाक्य
  4. प्रश्नवाचक वाक्य
  5. आज्ञार्थक वाक्य
  6. संदेहार्थक वाक्य
  7.  संकेतवाचक वाक्य
  8. विस्मयबोधक वाक्य 

1. विधानार्थक वाक्य 

परिभाषा :- जिस वाक्य में किसी कार्य के करने या होने का वर्णन किया जाता है, अर्थात किसी व्यक्ति या स्थिति के बारे में कही गई सामान्य बात विधानार्थक वाक्य कहलाती है |

जैसे :-
  • राकेश पढ़ता है |
  • सोनिया खेलती है |
  • चन्द्रमा चमकता है |
  • तारे टिमटिमाते बादल गरजते है |

2. निषेधवाचक वाक्य :-

परिभाषा :- इन वाक्यों में निषेध / नकारात्मक का भाव होता है |

जैसे :- 
  • घर से बाहर मत निकलो |
  • मुझे वंहा नही जाना |
  • राकेश घर नही गया |
  • कुछ लोग सावधानी नही बरतते |

3. प्रश्नवाचक वाक्य :-

परिभाषा :- जिन वाक्यों में किसी प्रश्न के करने या होने का बोध हो, वे वाक्य प्रश्न वाचक वाक्य कहलाते है |
जैसे :- 
  • आप कंहा रहते है ?
  • राधा जमुना के किनारे कब नाचेगी ?
  • वह क्या करता है ?

4. आज्ञा वाचक / विधिवाचक वाक्य :-

परिभाषा :- जिस वाक्य में किसी आज्ञा /आदेश /उपदेश या अनुमति का बोध होता है , वे आज्ञा वाचक वाक्य कहलाते है |
जैसे :- 
  • यहा से जाइये |
  • आप चुप रहिये |
  • बाहर मत निकलो |
  • तुम भगवान का भजन करो, जिससे सभी बढायें दूर होगी |

5. इच्छार्थक /इच्छावाचक वाक्य 

परिभाषा :- जिस वाक्य में इच्छा /आशा /कामना /शुभकामना /आशीर्वाद के अर्थ का बोध होता है, इच्छार्थक वाक्य कहलाते है|
जैसे :- 
  • भगवान तुम्हे दीर्घायु दे |
  • आपकी यात्रा मंगलमय हो |
  • भगवान तुम्हारी सभी मनोकामनाए पूरी करे |
  • मै अध्यापक बनना चाहता हु |
  • आज तो कंही से पकोड़े मिल जाए |

6. संदेहार्थक वाक्य

परिभाषा :- जिस वाक्य में संदेह के अर्थ का बोध हो, संदेहार्थक वाक्य कहलाता है |
जैसे :-
  •  आज बरसात होने की संभावना है |
  • मै संभवत: कल नही आऊ |
  • राकेश घर आ रहा होगा |
  • ऐसा लगता है जैसे कोई हमारी बाते सुन रहा है |

7. संकेतार्थक वाक्य

परिभाषा :- जिस वाक्य में एक कार्य दुसरे कार्य पर निर्भर हो अर्थात एक क्रिया दूसरी क्रिया पर आश्रित हो, संकेतार्थक वाक्य कहलाता है |
जैसे :- 
  • जब बादल हटेंगे, तब धुप निकलेगी |
  • जैसा बोओगे वैसा काटोगे |
  • जब तुम आओगे , तब हम जाएँगे |
  • जैसी करनी वैसी भरनी |

8. विस्म्यादी बोधक वाक्य 

परिभाषा:- जिस वाक्य में हर्ष , शोक ,घृणा ,विस्मय , इत्यादि के अर्थ का बोध हो, विस्म्यादी बोधक वाक्य कहलाता है |
जैसे :- 
  • वाह ! मजा आ गया |
  • हे भगवान ! बहुत बुरा हुआ |
  • छि: – छि: ऐसी चीजे मत खाया करो |
  • शाबाश ! मुझे तुमसे यही उम्मीद थी |

हमारे WhatsApp ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें

👉ये प्रश्न भी पढ़े : पंजाबी Grammar नोट्स रस 

👉ये प्रश्न भी पढ़े : पंजाबी grammar नोट्स छंद 

REET Free Mock Test Online
REET  Mock Test Name Mock Test Link
Mock Test-1 वृद्धि व विकास
Mock Test-2 विकास के आयाम
Mock Test-3 विकास को प्रभावित करने वाले कारक
Mock Test-4 अधिगम
Mock Test-5 अधिगम के विभिन्न सिद्धान्त
Mock Test-6 बालकों में चिंतन व अधिगम 
Mock Test-7 अभिप्रेरणा व अधिगम के अभिप्रेत
Mock Test-8 व्यक्तिक भिन्नता
Mock Test-9 व्यक्तित्व
Mock Test-10 बुद्धि
Mock Test-11 विविध प्रकार के अधिगामकर्ताओं की समझ
Mock Test-12 समायोजन
Mock Test-13 राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रूपरेखा-2005 (NCF 2005)
Mock Test-14 आकलन,मापन,एवं मूल्यांकन

1 thought on “vakya or uske bhed in hindi”

Leave a Reply

%d bloggers like this: