विलोम शब्द |Vilom shabd in hindi PDF

विलोम शब्द | Vilom Shabd In Hindi PDF की इस महत्वपूर्ण पोस्ट में आपके लिए महत्वपूर्ण विलोम शब्द उपलब्ध करवाए गये है|

Vilom Shabd In Hindi PDF

विलोम-शब्द का अर्थ क्या है

अर्थ :- विलोम का साधारण अर्थ होता है-‘उलटा’।

विलोम की परिभाषा क्या है

परिभाषा- जिस शब्द के द्वारा हमें उसके विपरीत ‘ अर्थ का पता चलता है, उसे विलोम शब्द कहतेहैं।
जैसे-उलटा-सीधा, सुख-दु: ख।

विलोम :– शब्द
विष- अमृत
अर्थ- अनर्थ
अग्रज- अनुज
अंत- आदि
अंश- पूर्ण
अवतल- उत्तल
अल्प- अति
अनेक- एक
अंधकार- प्रकाश
अपमान- सम्मान
अस्त- उदय
अपेक्षा- उपेक्षा
अनुलोम- विलोम/ प्रतिलोम
अतिवृष्टि- अनावृष्टि
अनुकूल- प्रतिकूल
अपराधी- निरपराध
अवनि- अम्बर
ईमानदार- बेईमान
अज्ञ- विज्ञ
आदि- अन्त
आस्तिक- नास्तिक
आरोह- अवरोह
आकाश- पाताल
आशा- निराशा
आशीर्वाद- अभिशाप
आरम्भ- अंत

Vilom Shabd In Hindi PDF

आवश्यक- अनावश्यक
आदान- प्रदान
आयात- निर्यात
आदर- अनादर
आश्रित- अनाश्रित
इष्ट- अनिष्ट
इहलोक- परलोक
इच्छा- अनिच्छा
अनिष्ट- इष्ट
मीठा- कड़वा
अधम- उत्तम
अनुदार- उदार
उपचार- अपचार
उपयुक्त- अनुपयुक्त
उचित- अनुचित
अपकार- उपकार
उत्तीर्ण- अनुत्तीर्ण
उन्नति- अवनति
अस्ताचल- उदयाचल
उच्च- निम्न
समापन- उद्घाटन
उत्पत्ति- विनाश
उत्तरायण- दक्षिणायन
उपसर्ग- प्रत्यय
उन्मुख- विमुख
उपजाऊ- अनुपजाऊ
एकता- अनेकता
एक- अनेक
एकाग्र– चंचल
ऐतिहासिक- अनैतिहासिक
एकार्थक- अनेकार्थक
औचित्य- अनौचित्य
औपचारिक- अनौपचारिक
तिमिर- प्रकाश
बन्धन- मुक्ति
बंजर- उर्वर
बहिरंग- अन्तरंग
कदाचार- सदाचार
भला- बुरा
क्रय- विक्रय
कपूत- सपूत
कोमल- कठोर
खुशबू- बदबू
खण्डन- मण्डन
गहरा- उथला
ग्रीष्म- शीत
गुण- दोष
गुरु- लघु
गोचर- अगोचर
गौण- प्रमुख
गौरव- लाघव
घृणा- प्रेम
चल- अचल
चेतन- अचेतन/ जड़
जन्म- मृत्यु
जय- पराजय
जटिल- सरल
जीवन- मरण
ज्येष्ठ- कनिष्ठ/ लघु
तरल- ठोस
तरुण– वृद्ध
दण्ड- पुरस्कार
दिन- रात
दुराचार- सदाचार
दुर्लभ- सुलभ
दूर- पास

Vilom Shabd In Hindi NOTES

देव- दानव
अभद्र- भद्र
मान- अपमान
महँगा- सस्ता
मानवीय- अमानवीय
मानव- दानव
मित्र- शत्रु
मुख्य- गौण
मेहमान- मेजबान
मोटा- पतला
मौखिक- लिखित
मंगल- अमंगल
यश- अपयश
युद्ध- शान्ति
योग्य- अयोग्य
रक्षक- भक्षक
राग- द्वेष
राजा- रंक
राक्षस- देवता
रोगी- निरोग
सजीव- निर्जीव
सम्मान- अपमान
सादर- निरादर
संधि- विग्रह
स्वदेश- परदेश
हिंसा- अहिंसा
हर्ष- विषाद
हित- अहित
क्षणिक- शाश्वत
जात- अज्ञात
नवीन- प्राचीन
न्यूनतम- अधिकतम
निर्माण- विनाश
निरक्षर- साक्षर
निरर्थक- सार्थक
निराकार- साकार
नैतिक- अनैतिक
उत्थान- पतन
पठित- अपठित
परोक्ष – प्रत्यक्ष
अंधकार- प्रकाश
स्वतंत्र- परतंत्र
उत्तर- प्रश्न
निंदा- प्रशंसा
अपवित्र- पवित्र
निष्फल- फल
काँटा- फूल
हानि- लाभ
परलोक- लोक
वधू- वर
अभिशाप- वरदान
सदाचारी- व्यभिचारी
मूर्ख- विद्वान
जागरण- शयन
मित्रता- शत्रुता
शुभ- अशुभ

Leave a Reply

%d bloggers like this: